Breaking

Monday, August 31, 2020

अवसान मैया की पहली आरती का हुआ विमोचन



त्रेता युग में भगवान राम के विवाह के उपरांत माता कौशल्या  द्वारा दुख दुरिया का आयोजन किया गया था। जिसमें कई सुहागिन बहनों के द्वारा यह पूजा अयोध्या में धूमधाम के साथ किया गया था, तब से लेकर आज तक सनातन धर्मावलंबियों के द्वारा अवसान माता की यह पूजा प्रथा आज भी चली आ रही है माताएं बहने अवसान माता का विधिवत पूजा पाठ करके दुख दुरिया की कथा श्रवण करती हैं माना जाता है कि दुख दुरिया की कथा पूजन से सबको मुंह मांगी मुरादें पूरी हो जाती हैं।
 बड़े ही हर्ष की बात है कि अंतर्राष्ट्रीय भज़न गायक दीनबंधु सिंह के स्वर में धरती पर आज पहली बार अवसान माता की आरती गाई गई, जिसकी रचना कथा व्यास पूज्य  संतोष जी महाराज ने की है अवसान माता की आरती का विमोचन आज हेल्लो चेम्प्स स्कूल के परिसर में श्री नरसिंह नाथ सिंह ( सेवानिवृत्त प्रबंधक बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक) के कर कमलों द्वारा किया गया। *अवसान मैया हो अवसान मैया तेरी आरती उतारु अवसान मैया* बोल से युक्त इस आरती के निर्माता हेल्लो चेम्प्स स्कूल के डायरेक्टर श्री संदीप सिंह जी हैं तथा इस आरती को मोहित पांडेय ने संगीत से सजाया है,निर्देशक अतुल सिंह तथा अवसान मैया की इस आरती की परिकल्पना श्रीमती अमृता सिंह,श्रीमती आरती शर्मा एवं श्रीमती माण्डवी सिंह जी की है, संपूर्ण लॉकडाउन का पालन करते हुए इस आरती का विमोचन किया गया विमोचन के लिये डॉ० ए के सिंह, डॉ० जे०पी०सिंह, डॉ० आर०ए०वर्मा, डां०आलोक सिंह डां०आभा सिंह,डां०डी० एस०मिश्रा,डां०राधेश्याम सिंह, एडवोकेट अरविंद सिंह राजा, बार एसोसिएशन अध्यक्ष नगेंद्र सिंह, मदन सिंह, अंकित श्रीवास्तव, विनय सिंह राजपूत सचिंद्र शुक्ला विवेक सिंह,अनिल सिंह श्रीमती बबीता जयसवाल श्रीमती बबीता तिवारी श्रीमती अंजू सिंह श्रीमती सुमन सिंह श्रीमती पल्लवी वर्मा श्रीमती मंजू सिंह दिनकर सिंह रमेश सिंह टीन्नू एवं यहां मौजूद लोगों ने भज़न गायक दीनबंधु सिंह जी को तथा आरती के रचयिता संतोष जी महाराज और निर्माता संदीप सिंह को बहुत-बहुत बधाई देते हुए धन्यवाद दिया।




No comments:

Post a Comment

FlatBook

Check out the latest news from India and around the world. Latest India news on Bollywood, Politics, Business, Cricket, Technology and Travel. sarkariresult.org.uk.




Recent

Contact Us

Name

Email *

Message *